Our Vahalla Pita ji – loving father

Many people are afraid of Bhagwan. But, if the Pavitra Atma of Bhagwan is joined to our jeev-atma by the krupa of the uttam avatar of Bhagwan, the bhakta of Guru ji receives the anubuddhi that Bhagwan is our vahalla pita ji. We are not afraid of our vahalla pita ji.

बहुत से लोग भगवान से डरते हैं परंतु, भगवान का पवित्र आत्मा भगवान के उत्तम अवतार की कृपा के कारण से हमारे जीवा-आत्मा के साथ जुड़ गया है तो गुरु जी का भक्त अनूबुद्दी को प्राप्त करते हैं कि भगवान हमारा वाहल्ला पिता जी है. हम हमारे वाहल्ला पिता जी से डरते नहीं हैं